१०० ऊंट एक प्रेरक कहानी | 100 Camels Hindi Story about Problem Solution

0
Hindi Story About 100 Camels _ १०० ऊंट एक प्रेरक कहानी
Hindi Story About 100 Camels | १०० ऊंट एक प्रेरक कहानी

हेलो दोस्तों Hindi Canvas मैं आप सब लोगों का स्वागत है। आज जो कहानी सुनाने जा रहा हूं उसका नाम है १०० ऊंट एक प्रेरक कहानी। तो चलिए शुरू करते है आजका कहानी 100 Camels Hindi Story about Problem Solution | १०० ऊंट एक प्रेरक कहानी

Hindi Story About 100 Camels | १०० ऊंट एक प्रेरक कहानी

राजस्थान के एक गांव में रहने वाला एक व्यक्ति हमेशा किसी ना किसी समस्या से परेशान रहता था। इस कारण अपने जीवन से बहुत दुखी था।

एक दिन उसे कहीं से जानकारी प्राप्त हुई कि एक पिर बाबा अपने काफिले के साथ उसके गांव में पधारे हैं। उसने तय किया की वह पिर बाबा से मिलेगा, और अपने जीवन की समस्याओं के समाधान का उपाय पूछेगा।

शाम को वह स्थान पर पहुंचा जहां पीर बाबा रुके हुए थे। कुछ समय प्रतीक्षा करने के उपरांत उसे पीर बाबा से मिलने का अवसर प्राप्त हो गया। वह उन्हें प्रणाम करके बोला बाबा मैं अपने जीवन में एक के बाद एक आ रही समस्याओं से बहुत परेशान हूं। एक से छुटकारा मिलता नहीं कि दूसरी सामने खड़ी हो जाती है।

घर की समस्या, काम की समस्या, स्वास्थ्य की समस्या और नाजाने कितनी और भी समस्याएं। ऐसा लगता है कि मेरा पूरा जीवन समस्याओं से घिरा हुआ है। कृपा करके कुछ ऐसा उपाय बताइए कि मेरे जीवन की सारी समस्याएं खत्म हो जाए। और मै शांतिपूर्ण और खुशहाल जीवन जी सकूं।

उसकी पूरी बात सुनने के बाद पीर बाबा मुस्कुराए और बोले, बेटा मैं तुम्हारी समस्या समझ गया हूं उन्हें हल करने के उपाय मैं तुम्हें कल बताऊंगा। इस बिच तुम मेरा एक छोटा सा काम कर दो। वह व्यक्ति तैयार हो गया।

फिर बाबा बोले बेटा मेरे काफिले में १०० ऊंट है। मैं चाहता हूं कि तुम आज इस की रखवाली करो। जब सभी १०० ऊंट बैठ जाए तब तुम सो जाना। यह कहकर पीर बाबा अपने तंबू में सोना चले गई है।

फिर वह व्यक्ति उटो की देखभाल करने चला गया। अगली सुबह फिर बाबा ने उसे बुलाकर पूछा बेटा तुम्हें रात को नींद तो आती रही ना। कहां बाबा पूरी रात मै एक पल के लिए भी सो ना सका।

बहुत प्रयास किया कि सभी उट एक साथ बैठ जाए ताकि मैं चैन से सो सकूं किंतु मेरा प्रिय सफल ना हो सका। कुछ ऊंट तो स्वत: बैठ गए। और कुछ मेरे लाखों प्रयास करने के बाद भी नहीं बैठा। कुछ बैठ भी गए, तो दूसरे उठ खड़े हुए। इस तरह पूरी रात बीत गई।

Hindi Story About 100 Camels | १०० ऊंट एक प्रेरक कहानी

व्यक्ति ने उत्तर दिया। फिर बाबा मुस्कुराए और बोले यदि मैं गलत नहीं हूं तो तुम्हारे साथ कल रात या हुआ:- कई ऊंट खुद-ब-खुद बैठ गई है कईयों को तुमने अपने प्रयासों से बैठाया। कई तुम्हारे बहुत प्रयासों के बाद भी नहीं बैठे। बाद में तुमने देखा कि बे उनमें से कुछ अपने आप ही बैठ गए।

बिल्कुल ऐसा ही हुआ बाबा। तब पीर बाबा ने उसे समझाते हुए कहा क्या तुम समझ पाए कि जीवन की समस्या भी इसी तरह है। कुछ समस्याएं अपने आप ही हल हो जाती है। कुछ प्रयास करने के बाद हल होती है।

कुछ प्रयास करने के बाद भी हल नहीं होती। उन समस्याओं को समय पर छोड़ दो। सही समय आने पर वह अपने आप ही हल हो जाएगी। कल रात तुमने अनुभव किया होगा कि चाहे तुम कितना भी प्रयास क्यों ना करो तुम एक साथ सारे ऊंट को नहीं बैठा सकते। तुम एक को बैठ आते हो तो दूसरा अपने आप खड़ा हो जाता है।

दूसरे को बैठ आते हो तो तीसरा खड़ा हो जाता है। जीवन की समस्याएं इन ऊंटो की तरह ही है। एक समस्या हल होती नहीं की दूसरी खड़ी हो जाती है। समस्याएं जीवन का हिस्सा है और हमेशा रहेगी। कभी यह कम है तो कभी ज्यादा। बदलाव तुम्हें स्वयं में लाना है।

और हर समय इन में उलझे रहने के बजाएं इन्हें एक तरफ रख कर जीवन में आगे बढ़ना है। व्यक्ति को पीर बाबा की बात समझ में आ गई। और उसने निश्चय किया कि वह आगे से वह कभी अपनी समस्याओं को खुद पर हावी होने नहीं देगा। चाहे सुख हो या दुख जीवन में आगे बढ़ता चला जाएगा।

और पड़े : दिमाग की दुकान एक प्रेरक कहानी | Brain Shop Motivational Short Story in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here